Voice of Khaki will befriend me, I will bring gravel home!
crime Jalore

खाकी के रौब से आवाज मुझसे दोस्ती करोगी, बजरी पहुंचा दूंगा घर!

खाकी पर दाग लगा रहा ऑडियो, खुद बजरी पहुंचाने की बात आ रही सामने

ajanta
ajanta

 

जालोर. वर्तमान में एक ऑडियो जिले में खासा चर्चा का विषय बना हुआ है। जिसमें बजरी पहुंचाने की आड़ में दोस्ती का प्रस्ताव दिया जा रहा है। यह ऑडियो जसवंतपुरा क्षेत्र का बताया जा रहा है, लेकिन राजस्थान आगाज इसकी पुष्टि नहीं करता।

लेकिन प्रकरण फिलहाल लोगों में चर्चा का विषय बनने के साथ साथ सोशल मीडिया पर छाया हुआ है। इस मामले में संबंधित व्यक्ति पहले तो महिला के हालचाल पूछते हैं। फिर उनसे दोस्ती के लिए प्रपोज करते हैं। बातचीत का मामला यहां तक ही नहीं थमता थानाधिकारी उस महिला को अकेले होना बताकर पांच मिनट के लिए घर पर मिलने तक बुलाते हैं, इसके बाद जब महिला यह कहती है कि उसके घर पर निर्माण कार्य चल रहा है इसलिए वह नहीं आ सकी।

तो थानाधिकारी उसे यह पूछते है कि बजरी आ गई क्या? इस पर महिला कहती है कि हां, बजरी तो आ गई पर दिन में क्यों भिजवाई? रात में ही भिजवाते। दिन में तो बजरी परिवहन करने वालों के खिलाफ ऊपर से आदेश आए हुए हैं। इस पर थानाधिकारी रौब झाड़ते हुए कहते हैं कि देख लो, मैं तो दिन में भी बजरी भिजवा सकता हूं। हालांकि थाना प्रभारी बड़ी मनुहार से ही दोस्ती के लिए प्रपोज कर रहे हैं। यह भी कह रहे हैं कि वह जबरदस्ती मित्रता नहीं कर रहे हैं।

दोस्ती का प्रस्ताव

इस अंतरंग बातचीत में थानाधिकारी उस महिला को दोस्ती करने का आफर दे रहे हैं। उस महिला से कई बार पूछते सुनाई दे रहे हैं कि दोस्ती करोगे कि नहीं? इतना ही नहीं थानाधिकारी अकेला होने पर महिला को पांच मिनट के लिए अपने घर पर भी आने का कह रहा है। थानाधिकारी महिला से यह भी कहलवा रहा है कि मैं कोई जबरदस्ती तो नहीं कर रहा हूं। धोखा तो नहीं देगी?
्र
साख पर सवाल उठा

पुलिस की ओर से लगातार बजरी खनन पर कार्रवाई की जा रही है, लेकिन दूसरी तरफ यह ऑडियो कुछ ओर ही बयां कर रहा हैं, जिसमें सीधे तौर पर बजरी खनन माफियाओं से सांठ गांठ सामने आ रही है। हालांकि ऑडियो से प्रकरण का आंकलन करना मुश्किल है, लेकिन अब इस प्रकरण में जांच के साथ कड़ी कार्रवाई की दरकार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *