Uncategorized

जरूरक्तमन्दो को राशन किट वितरण करने के बाद जैन समाज बोला , जिओ और जीने दो का भगवान महावीर का संदेश होगा सार्थक

सायला। प्राचीन काल से देश-विदेश में अनेकों धर्म-गुरुओं ने शान्ति का सन्देश देकर यह बताने का प्रयास किया है कि मानवता की सच्ची सेवा ही सच्चा धर्म है। यदि व्यक्ति मानवता की सेवा में पूर्णतः तल्लीन हो जायेगा तो दुनियाँ में गरीबी, अशिक्षा, बेरोजगारी, अहंकार, घृणा, दुष्टता एवं धन एकत्र करने की प्रवृति स्वतः ही समाप्त हो जायेंगी। इससे एक उन्नत विश्व की स्थापना होगी तथा सभी एक-दूसरे की मदद के लिए तैयार रहेंगे। विश्व में प्रत्येक देश की भाषा, संस्कृति, पहनावे भिन्न-भिन्न हो सकते हैं लेकिन सभी के कल्याण का मार्ग सिर्फ और सिर्फ मानवता की सेवा है। हमें नफरत को छोड़कर प्रेम के मार्ग पर चलना चाहिये तथा अमन- शान्ति के साथ समय व्यतीत करना चाहिए। हम इसके लक्ष्यों को तभी हासिल कर सकते हैं। इसी राह पर चलते हुए जैन समाज ओटवाला ने कोरोना महामारी में आगे आकर ओटवाला और खरल के जरूरतमंद ग्रामीणों के लिए राशन सामग्री वितरण करने में आगे आये। भगवान महावीर जयंती के दिवस पर जैन समाज ओटवाला ने मानव सेवा के लिए आगे आकर उन्होंने गरीबो के लिए राशन सामग्री भेट की

ओटवाला मेजरूरक्तमन्दो को राशन किट वितरण

इस राशन किट में आटा दाल, तेल , नमक , शककर चायपत्ती , हल्दी मचाला आदि का राशन किट जरूरतमंद परिवारों को भेजा गया। जिसमे जैन समाज के दानवीर भामाशाह सेठ बाबुलालजी जैन, राजेश कुमार जैन , हेमराज , महेन्द्र, समेरमल ,राजेन्द्र , ललितकुमार,तिलोकचंद , चम्पालाल,मांगीलाल ,शांतिलाल,सुमेरमल,जयंतिलाल, संदीपकुमार ,अशोककुमार, कान्तिलाल,खुशालचन्द,बाबूलाल महेन्द्र कुमार समेत समस्त जैन परिवारो का सहयोग महत्वपूर्ण सहयोग रहा। इसी दौरान इस मौके पर समाजसेवी अशोक अग्रवाल ,रतनसिंह,जबराराम माली ,अशोक वार्ड पंच , लक्ष्मण सुथार व अन्य मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *