Corona's impact continues in Jalore, cases are increasing
Jalore

फिर से गहरया कोरोना का खतरा

ऋषभनगर में पॉजिटिव निकले परिवार की बुजुर्ग महिला की मौत, टीम ने लिए सेंपल, बुधवार को प्राप्त 180 की रिपोर्ट में 166 नेगेटिव

जालोर. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को बुधवार प्रक्रियाधीन सेम्पल में से 180 की रिपोर्ट प्राप्त हुई। जिसमें जिले में 12 रिपीट पॉजिटिव, 166 जनों की रिपोर्ट नेगेटिव, 1 रिजेक्ट व 1 एसएनआर की रिपोर्ट प्राप्त हुई है। वहीं गत दिनों शहर के ऋषभनगर में पॉजिटिव निकले एक परिवाहर की बुजुर्ग महिला की मौत के बाद बुधवार को चिकित्सा टीम पूरे प्रशासनिक लवाजमे के साथ मौके पर पहुंची और मृतका का सेंपल लिया गया।

सीएमएचओ डॉ. गजेन्द्र सिंह देवल ने बताया कि जिले में अब तक कुल 57 हजार 158 सेम्पल लिए गए हैं। जिनमें से 54 हजार 57 की रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त हुई है। जिले में अब तक कुल 1227 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। बुधवार को 10 व्यक्ति कोरोना को हरा कर स्वस्थ हुए, जिन्हें कोविड केयर सेंटर से डिस्चार्ज किया गया है। वर्तमान में जिले में 122 कोरोना एक्टिव केस हैं, जिनका उपचार किया जा रहा है। इसी तरह बुधवार को जिले में 527 चिकित्सा टीमों ने 8 हजार 913 घरों का सर्वे कर 22 हजार 779 लोगों की स्क्रीनिंग की।बैरठ के युवक ने जालोर में यहां भी कराई थी जांचबैरठ के जिस 54 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव मरीज की जोधपुर के एमडीएम अस्पताल में मौत हुई थी, वह जालोर नगरपरिषद के पीछे स्थित एक निजी क्लीनिक पर भी जांच के लिए गया था। जहां उसने चिकित्सक को सांस में तकलीफ के साथ साथ पुराना शुगर व हार्ट पेशेंट होना बताया था। क्लीनिकल स्टाफ ने चिकित्सक के परामर्श पर उसकी लेब में कुछ जांचें भी करवाई। वहीं तकलीफ ज्यादा होने पर उसे प्राथमिकी के तौर पर इंजेक्शन भी लगाया गया। बाद में उसकी रिपोर्ट में ऑक्सीजन लेवल कम आने व संदिग्ध लगने पर चिकित्सक ने पीएमओ को अवगत कराने के साथ ही उसे जिला अस्पताल भेज दिया।

स्टाफ के लिए सेंपल

नगरपरिषद के पीछे सेवानिवृत्त चिकित्सक डॉ. अनिल व्यास क्लीनिक चलाते हैं। उनका कहना है कि मरीज को उन्होंने बाहर से ही देखकर ईसीजी व विभिन्न ब्लड टेस्ट कराने को कहा था। जिसके 20 से 25 मिनट बाद रिपोर्ट आने पर ऑक्सीजन लेवल काफी कम था। वहीं मरीज संदिग्ध लगने से उसे एडमिट नहीं कर जिला अस्पताल भेज दिया गया था। इसके बाद 30 जुलाई को उसका सेंपल लिया गया और 31 को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उसे जोधपुर रेफर किया गया। इधर, संक्रमित मरीज के संपर्क में आए डॉ. व्यास, एलटी, मेलनर्स, मेडिकल स्टोर संचालक सहित कुल 10 जनों के सेंपल लिए गए जो सभी नेगेटिव निकले।

5 Replies to “फिर से गहरया कोरोना का खतरा

  1. Pingback: 1chancel
  2. Pingback: bear bows
  3. Pingback: read
  4. Pingback: sideline

Leave a Reply