Jalore came first in this case ... know
crime Jalore

इस मामले में जालोर आया प्रथम…जानिये

1.70 लाख से अधिक काश्तकारों को पॉलिसी जारी कर प्रथम

जालोर. प्रधानमंत्री फसल बीमा खरीफ योजना में जिला अब तक 1.70 लाख से अधिक काश्तकारों को बीमा पॉलिसी जारी कर राज्य में प्रथम स्थान पर है। दूसरा स्थान भीलवाड़ा ने प्राप्त किया हैं, इस जिले के मुकाबले जालोर जिले में लगभग 35 हजार काश्तकारों की अधिक पॉलिसियां जारी हुई हैं। कलक्टर हिमांशु गुप्ता की मॉनिटरिंग में विगत सप्ताह कृषि विभाग को निर्देशित कर समस्त जिला, ग्राम पंचायतों, ग्रामों में योजना के प्रति जागरूक करने के लिए किसान गोष्ठियां आयोजित करवाई। इसका परिणाम यह हुआ है कि काश्तकार आगे होकर निकटतम ई-मित्र केन्द्र पर जाकर पॉलिसी के लिए आवेदन कर रहे हैं।

इसके तहत धान, सोयाबीन, बाजरा, कपास, मंूगफली, ग्वार, ज्वार, मक्का, मूंग, तिल, उड़द एंव मोठ की फसलों के लिए बीमा किया जा रहा है। उप निदेशक डॉ. आरबी सिंह ने बताया कि जिले में काश्तकारों ने कोरोना गाईडलाइन का पालन करते हुए पंजीयन रिकॉर्ड में मानक दंड स्थापित किए हैं। गैर ऋणी किसानों की संख्या में भी वृद्धि हुई है। पूर्व 2828 गैर ऋणी किसानों की संख्या बढ़कर 3725 हो गई है। बीमा पॉलिसी की अंतिम तिथि 15 जुलाई है। इस योजना की प्रमुख विशेषता यह है कि इसमें काश्तकारों के लिए बहुत ही कम प्रीमियम रखा गया है। गैर ऋणी किसानों के लिए प्रक्रिया को सरल किया गया है।

इन्हें मिलना है फायदा

ओलावृष्टि, भू-स्खलन, जल भराव, बादल फटने, आकाशीय बिजली गिरने से फसल नष्ट होने पर काश्तकारों केा फसल बीमा का लाभ मिल सकेगा। कम वर्षा या विपरीत मौसम अवस्थाओं के कारण फसल न बोई जाने पर, चक्रवात मौसम वर्षा की स्थिति में भी फसल नष्ट होने की स्थिति में भी काश्तकार लाभांवित हो सकेंगे। काश्तकारों को जल्द से जल्द फसल नष्ट होने की सूचना देने के लिए 18002095959 टोल फ्री नम्बर पर उपलब्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *