crime

जादू टोने वाले ने पिता की मौत का ताऊ को जिम्मेदार ठहराया, नाबालिग भतीजे ने उतारा मौत के घाट

–   नाबालिग भतीज (विधि के विरूद्ध संघर्षरत किशोर) को लिया पुलिस संरक्षण में
जालोर. भीनमाल थाना क्षेत्र के अंतर्गत नासोली में 7 मई को जलदायकर्मी की हत्या के मामले में पुलिस ने बाल अपचारी को संरक्षण में लिया। मामला जादू टोने से जुड़ा है और इसी चक्कर में नाबालिग ने अपने ही चाचा को मौत के घाट उतारा।
एसपी हिम्मत अभिलाष द्वारा घटनाक्रम के बाद टीम का गठन किया गया। जिसके बाद भीनमाल थाना प्रभारी देवेंद्र कच्छवाह द्वारा जलदाय विभाग के मीटरमैन की हत्या के बाल अपचारी को दस्तयाब किया गया।
पुलिस के अनुसार जगाराम जलदाय विभाग में मीटर मैन नासौली में लगे हुए था, जो अपनी मोटरसाईकिल पर ड्यूटी के लिए दोपहर में निकला था। पीछे उसका भतीज अपनी मोटरसाईकिल पर रवाना हुआ। जिसके बाद नदी में खेत के पास पहुंचे तो उसके भतीज ने मोटरसाईकिल रास्ते में डालकर जगाराम के आंखों में मिर्ची डाल कर सिर में पीछे से हथियार से चोट मार हत्या कर दी। जगाराम घायल अवस्था में मुख्य सड़क पर पड़ा रहा। जिस संबंध में भतीज ने उपस्थित लोगों को वाहन दुर्घटना होना बताया। लेकिन पुलिस अनुसंधान में मामले का खुलासा हो गया।
ऐसे हुआ खुलासा
घटना के बाद पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और जांच के बाद नाबालिग को संरक्षण में लिया। जिसने इस वारदात को अंजाम दिया। जांच में यह बात सामने आई कि बाल अपचारी भतीजे ने मिर्ची का पाउडर आंखों में डालकर लोहे के पाईप से मृतक जगाराम के सिर व मुंह पर वार कर गंभीर चोटें कारित कर हत्या की।
यह था वारदात का कारण
मृतक जगाराम ने सगे छोटे भाई रूपाराम की एक वर्ष पूर्व मौत हो थी तथा जादू टोना करने वाले लोगों एवं अन्य लोगों ने मृतक के भतीजे को यह बताया कि तेरे पिताजी को तेरे ताउ जगाराम ने जादू टोना करके मारा हैं, जिससे भतीजे (नाबालिग) ने अपने ताऊ जगाराम को मारने की साजिश रची, जिसके बाद नाबालिग ने अपने ताऊ जगाराम को जान से मार दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *