Jalore Politics

गहलोत सरकार के कार्यकाल में भ्रष्टाचार एवं अपराध का ग्राफ बढा – शेखावत

– गहलोत सरकार पर नकल गिरोह को शह देने का आरोप लगाया
– सायला में भाजपा द्वारा जालोर विधानसभा क्षेत्र की जनआक्रोश महासभा का आयोजन

मुकेश वैष्णव @ राजस्थान आगाज़

सायला।
उपखण्ड मुख्यालय पर स्थित खेलमैदान में रविवार को राज्य की कांग्रेस सरकार के विरोध में भाजपा द्वारा जालोर विधानसभा क्षेत्र की जनआक्रोश महासभा का केन्द्रीय मंत्री एवं मुख्य वक्ता गजेन्द्रसिंह शेखावत के मुख्य आतिथ्य में आयोजन हुआ।
कार्यक्रम का सर्वप्रथम अतिथियों के हाथों भारत माता, पं. दीनदयाल उपाध्याय एवं श्यामाप्रसाद मुखर्जी की तस्वीर के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ किया गया। इसके बाद भाजपा पदाधिकारियों द्वारा केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्रसिंह शेखावत का 21 किलोग्राम की माला पहनाकर, पीर शांतिनाथ महाराज व कात्यायनी माता की तस्वीर एवं तलवार भेंटकर स्वागत किया गया।
इस मौके केन्द्रीय मंत्री शेखावत ने राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस की इस सरकार के कार्यकाल में भ्रष्टाचार एवं अपराध का ग्राफ बढा हैं। उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री गहलोत पर जनता के साथ वादाखिलाफी करने के आरोप लगाए और कहा कि सत्ता में आने से पहले कांग्रेस ने बेरोजगारों को नौकरी और भत्ता देने की बात कही। इसी प्रकार किसानों को 10 दिन में ऋण माफी का छलावा दिया। कांग्रेस ने राजस्थान की जनता को धोखा देकर सत्ता प्राप्त की। केन्द्रीय मंत्री शेखावत ने राज्य सरकार पर पेपर माफियाओं के साथ मिलीभगत का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार की शह पर ही प्रतियोगी परीक्षाओं के पेपर लीक हो रहे है। भाजपा के सत्ता में आने पर पेपर लीक प्रकरणों की सीबीआई जांच करवाएंगे। जिसने पीछे के दरवाजे से नौकरी हासिल की है उनको दरवाजे के पीछे भेजेंगे। साथ ही बताया कि राज्य में अपराधी बेलगाम है और इस माफिया राज से मुक्ति के लिए अपने वोट की चोट से इस सरकार को विदा करने के लिए जनता तैयार है।

जालोर विधायक जोगेश्वर गर्ग ने कहा कि मैंने विपक्ष का विधायक होने के बावजूद क्षेत्र में जहां बडे पॉवर ट्रांसफॉर्मर की आवश्यकता थी उन जीएसएस पर पॉवर ट्रांसफॉर्मर उपलब्ध करवाए। वही कांग्रेस सरकार ने दीनदयाल उपाध्याय विधुत कनेक्शन योजना को रोक दिया जिससे क्षेत्र के 2500 किसान विधुत कनेक्शन से वंचित रह गए। जिसे केन्द्र सरकार से पुनः शुरू करवाने की मांग की। साथ ही बताया कि कांग्रेस राज में रात्रि में विधुत आपूर्ति से काश्तकारों को परेशानी हो रही है। वही वोल्टेज कम मिल रहे है और जले हुए ट्रांसफॉर्मर भी समय पर नही मिल रहे है। गहलोत सरकार की नीतियों से आमजन प्रताड़ित महसूस कर रहा है।

 

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष नारायणसिंह देवल ने कहा कि वर्तमान कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में जिले का विकास थम सा गया है। कांग्रेस सरकार जानबूझकर विकास के मुद्दे पर पीछे धकेलने का कार्य कर रही है। भाजपा जिला प्रभारी महेंद्र बोहरा ने कहा कि हर वर्ग खुद को ठगा सा महसूस कर रहा है, सरकार झूठी वाहवाही लूट रही है। भाजपा जिलाध्यक्ष श्रवणसिंह राव बोरली ने कहा कि महिला उत्पीडऩ के मामले बढ़ते जा रहे हैं। सरकार उन पर अंकुश लगाने में विफल रही है। जनआक्रोश सभा को अन्य वक्ताओं ने भी संबोधित किया। इस दौरान एबीवीपी ने पेपर लीक प्रकरण की जांच की मांग और किसानों ने जवाई बांध का पानी छोडने, माही परियोजना की क्रियान्विती की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा गया।

 

जनता में कांग्रेस सरकार के खिलाफ भारी आक्रोश – शेखावत
प्रदेश की जनता में राज्य सरकार के खिलाफ जो आक्रोश है भाजपा ने उस आक्रोश को आवाज देकर एक ज्वालामुखी में परिवर्तित करके कांग्रेस के कुशासन को उखाडने के लिए यह जनआक्रोश यात्राएं प्रारंभ की। भाजपा ने प्रदेश की 200 विधानसभा क्षेत्रों में लगातार 10 दिनों तक 1 लाख किलोमीटर जन आक्रोश रैली निकालकर 1 करोड से ज्यादा लोगों से संपर्क किया और उनके आक्रोश को समझने की कोशिश की। साथ ही राजस्थान में भाजपा की सरकार के प्रचंड बहुमत से बनने का दावा किया।

 

माही का पानी उपलब्ध करवाने की पैरवी नही करने का आरोप –
सभा के दौरान राजस्थान किसान संघर्ष समिति के बैनर तले सैकड़ों किसान सभा के बीच ही धरने पर बैठ गए। किसान नेता बद्रीदान चारण ने बताया कि किसान माही डेम का ओवरफ्लो पानी पेयजल और सिंचाई के लिए छोड़ने की मांग कर रहे हैं। उन्होंने मंत्री शेखावत पर माही का पानी किसानों को उपलब्ध करवाने की पैरवी नहीं करने का आरोप लगाया। माही का जल उपलब्ध करवाने को लेकर गुजरात और राजस्थान सरकार के बीच 1966 में समझौता हुआ था, जिसके तहत पेयजल और सिंचाई के लिए माही का जल उपलब्ध करवाया जाना था, लेकिन आज तक उस समझौते की पालना नहीं हुई। उन्होंने कहा कि यदि माही जल को इस क्षेत्र में लाया जाए तो जालोर, सिरोही, बाड़मेर क्षेत्र के किसानों के लिए जीवनदायनी साबित हो सकता है। किसानों ने केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर आरोप लगाया की उन्होंने माही का पानी किसानों के लिए उपलब्ध करवाने के लिए पैरवी नहीं की, जिससे जालोर के किसानों को नुकसान उठाना पड़ा। भाजपा की जन आक्रोश महासभा के बीच किसानों के धरने पर बैठने पर रानीवाड़ा विधायक नारायण सिंह देवल भी किसानों से समझाइश करने पहुंचे, लेकिन किसानों ने उनकी बात नहीं मानी। किसानों ने कहा कि इस मामले में जोधपुर हाईकोर्ट ने आदेश जारी किया था कि माही बांध का जो पानी ओवरफ्लो होकर खंपात की खाड़ी में जा रहा है उसे जालोर, बाड़मेर और सिरोही के किसानों को दिया जाए, लेकिन केंद्र सरकार ने इस मामले में कोई भी कदम नहीं उठाया।

 

यह रहे मौजूद
जन आक्रोश सभा में भाजपा जिलाध्यक्ष श्रवणसिंह राव बोरली, जालोर विधायक जोगेश्वर गर्ग, रानीवाडा विधायक नारायणसिंह देवल, आहोर विधायक छगनसिंह राजपुरोहित, सुमेरपुर विधायक जोराराम कुमावत, जिला संगठन प्रभारी महेन्द्र बोहरा, राष्ट्रीय कार्यसमिति के सदस्य रविन्द्रसिंह बालावत, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सांवलाराम देवासी, भाजयुमो जिलाध्यक्ष गजेन्द्रसिंह सिसोदिया, भाजपा जिला महामंत्री पुखराज राजपुरोहित, एसटी मोर्चा जिलाध्यक्ष रमेश राणा, जालोर प्रधान नारायण पुरोहित, सायला प्रधान ढोमीदेवी, वरिष्ठ नेता मंगलसिंह सिराणा, भवानीसिंह बाकरा, दीपसिंह धनानी, पूर्व प्रधान रामप्रकाश चौधरी, डॉ. मंजू मेघवाल, मंडल अध्यक्ष नैनमल लखारा, हरीश राणावत, गणपतसिंह बगेडिया, उदयसिंह दादाल, तुलसाराम चौधरी, मांगीलाल राजपुरोहित, पारसाराम राणा, रमेश आचार्य समेत भाजपा पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद थे।

4 Replies to “गहलोत सरकार के कार्यकाल में भ्रष्टाचार एवं अपराध का ग्राफ बढा – शेखावत

  1. Pingback: akun togel resmi

Comments are closed.