Collector issued special instructions on water crisis in Jalore district
Jalore

जालोर जिले में पानी के संकट पर कलक्टर ने ये जारी किए खास निर्देश

– जिला स्तरीय बैठक में दिए निर्देश
जालोर. जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता ने जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के तकनीकी अभियंताओं से कहा है कि वे जिले के भीनमाल शहरी क्षेत्र तथा अन्य समस्याग्रस्त पेयजल गांवों में पेयजल वितरण प्रबंधन को शीघ्र से शीघ्र दुरूस्त कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। समस्या का निदान नहीं होने तक समस्याग्रस्त गांव-बस्तियों में टैंकर्स से पेयजल उपलब्ध कराएं।

यह निर्देश मंगलवार को जिला कलक्टर ने कलेक्ट्रेट के सभागार में जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधिकारियों को विशेष बैठक में दिये। जिला कलक्टर ने जिले के समस्त कनिष्ठ अभियंताओं से उनके क्षेत्र में पेयजल प्रबंधन की विस्तृत समीक्षा करते हुए भीनमाल के अधिशाषी अभियंता के.सी.सिंगारिया को भीनमाल शहर की समस्याग्रस्त बस्ती और कॉलोनियों तथा गांवों में पेयजल वितरण प्रबंधन को प्राथमिकता से लेकर पेयजल समस्या को निस्तारित करने के निर्देश दिए।

उन्होंने गुडा बालोतान, भूति, धुम्बडिया, नरसाणा, गुनी नाहडा, धानसा, मोदरा, सांतोल, मूंगथला, चाण्डोल, गोलाना, गजीपुरा, सायला, तातोल, वाडा भाडवी, मांडोली, चांदो बाड़ी, भालनी, दामणियों की ढ़ाणी, जालोर (बी), सांचौर शहर सहित अन्य समस्याग्रस्त गांवों-ढ़ाणियों में पेयजल वितरण प्रबंधन को शीघ्र से शीघ्र सुचारू करने के निर्देश दिये और स्पष्ट किया कि हर घर तक पेयजल पहुंचाना विभाग की प्राथमिक जिम्मेदारी है, इसमें लापरवाही को गंभीरता से लिया जाएगा।
उन्होंने जसवंतपुरा, रानीवाड़ा और बागोड़ा क्षेत्र में पेयजल वितरण सुनिश्चित करने, जहां मोटर जलने या खराब होने से पेयजल वितरण में दिक्कत आ रही है तुरन्त ठीक करवाकर प्रबंधन को सुचारू रखने के निर्देश दिए।
जिला कलक्टर ने अधिशाषी, सहायक एवं कनिष्ठ अभियंताओं से कहा कि वे अपने क्षेत्र के उपखंड अधिकारी के संपर्क में निरन्तर रहें, साथ ही क्षेत्र का दौरा करते रहें। जैसे ही किसी जगह से पेयजल समस्या की सूचना मिले तुरन्त मौके पर पहुंचे और उसका निदान करें। जहां पानी वितरण करने में समस्या आ रही है वहां टैंकर से पेयजल वितरित कर आमजन को राहत पहुंचाये। लोगों के बीच जाये, उनकी समस्याएं सुने और उनका निदान करें। यह उनकी प्राथमिक जिम्मेदारी है।

जिला कलक्टर ने इस बात पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि पूर्व में भी विभाग के तकनीकी अभियंताओं से कहा गया था कि वे उपखंड अधिकारी के संपर्क में रहेंगे और कंट्रोल रूम में प्राप्त शिकायतों का निस्तारण करने की पहल करेंगे लेकिन उक्त निर्देशों का जिम्मेदारी से पालन नहीं किया जा रहा है। भविष्य में इसकी अवहेलना गंभीरता से ली जायेगी और संबंधित अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही होगी। उन्होंने अवैध कनेक्शन काटने और प्रबंधन को ठीक रखने के साथ-साथ संवेदनशील रहकर निगरानी व्यवस्था को कड़ी रखने के निर्देश भी दिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *