crime Jalore RAJASTHAN

रसूखदारों पर मेहरबानी, गरीबों पर सितम

  • विवाह समारोह के आयोजन पर गरीब का बनाते है चालान, रसूखदारों के यहां कार्रवाई के नाम पर औपचारिकता

  • पुलिस व प्रशासन की उदासीनता से आमजन में अविश्वास का माहौल

सायला

वैश्विक कोरोना महामारी के संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकार द्वारा त्रिस्तरीय जन अनुशासन लॉकडाउन को बढ़ाकर विवाह समारोह पर 30 जून तक रोक लगाई गई है लेकिन प्रशासन व पुलिस की उदासीनता से विवाह समारोह का ना केवल आयोजन हो रहा है बल्कि भीड़ जुटने से कोरोना महामारी का संक्रमण फैलने का अंदेशा है।

जानकारी के अनुसार उपखण्ड क्षेत्र में इन दिनों शादियों का सीजन होने से कई विवाह समारोह का आयोजन किया जा रहा है।  जिसमें भीड जुटने का अंदेशा है। जबकि राज्य सरकार द्वारा विवाह समारोह में 11 व्यक्तियों के शामिल होने की अनुमति है। वही विवाह समारोह में टेंट, हलवाई, डीजे आदि पर भी रोक लगाई गई है। ताकि कोरोना महामारी के संक्रमण की चेन को तोडा जा सके।

वही विवाह समारोह के आयोजन के लिए आॅनलाइन अनुमति लेने की व्यवस्था है। जिसके तहत आयोजन के दौरान शारीरिक दूरी, मास्क पहनना, सेनेटाइजर की व्यवस्था, अनुमत संख्याा से अधिका व्यक्तियों को शामिल नही करने की नियम की पालना के निर्देश दिए है। इसके लिए संबंधित गांव के पुलिस बीट अधिकारी द्वारा शादी विवाह वाले परिवार को सूचित कर एडवाइजरी का पालन करने की हिदायत भी दी जा रही है। लेकिन उच्चाधिकारियों की उदासीनता के कारण गाइडलाइन धरातल पर मूर्त रूप नही ले पा रही है। वही आयोजन में भीड जुटने पर प्रशासन को सूचित करने के बावजूद कोई कार्रवाई नही की जा रही है।

 

7 Replies to “रसूखदारों पर मेहरबानी, गरीबों पर सितम

Leave a Reply