Politics

कोरोना वायरस के खौफ के बीच दादाल में किसानों का महापडाव

प्रदेशभर से सैकडों की संख्या मे पहुॅच रहे किसान, खतरे से नही किया जा सकता इनकार

सायला।
प्रदेश मे लगातार बढ रहे कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों को लेकर सरकार एवं प्रशासन अलर्ट मोड पर आ गया हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के दृष्टिगत नागरिकों को भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचने की अपील की हैं। इसके बावजूद जिले के दादाल गांव मे कोरोना वायरस के खौफ के बीच किसानों का महापडाव जारी हैं।
जानकारी के अनुसार भारतमाला परियोजना के तहत प्रदेश से गुजरने वाले दो एक्सप्रेस-वे के विरूद्ध किसान धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। परियोजना के तहत भूमि अवाप्ति के विरोध में किसानों ने बागोडा के निकट दादाल गांव मे महापडाव डाला हुआ हैं। जिसमें सैकडो की संख्या मे किसान आमरण अनशन एवं धरने पर बैठे हुए हैं। वही प्रदेश के कई जिलों से सैकडो किसान महापडाव मे पहुॅचकर आन्दोलन को समर्थन दे रहे हैं। ऐसे मे महापडाव स्थल पर बडी संख्या मे प्रदेश के किसानों के पहुॅचने के कारण कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे से इनकार नही किया जा सकता हैं। हालांकि उपखण्ड मजिस्टेªट द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए किसान नेताओं को एडवाइजरी जारी की हैं। साथ ही किसान नेताओं से महापडाव स्थल पर किसानों को एकत्रित नही करने के लिए लिखित नोटिस देकर पाबन्द किया हैं। जिसकी तामिल भी करवा दी गई हैं। लेकिन किसान नेता अपनी मांगों पर अडे हुए हैं। वही चिकित्सा विभाग की टीम द्वारा स्वास्थ्य सुरक्षा के दृष्टिगत किसान नेताओं से आन्दोलन को स्थगित करने की अपील की जा चुकी हैं। इसके बाद चिकित्सा विभाग की टीम द्वारा खतरे की संभावना को देखते हुए महापडाव स्थल पर मेडिकल टीम की व्यवस्था की गई हैं। जो दो शिफ्ट मे 8-8 घंटे के अंतराल मे कार्य करती हैं। टीम आमरण अनशन पर बैठे किसानों के स्वास्थ्य की नियमित जांच करती है तथा तबीयत बिगडने पर रेफर करती हैं। वही किसानों को कोरोना वायरस की संक्रमण से बचाव के लिए अपनाये जाने वाले तरीकों के प्रति जागरूक करती हैं। जिससे कोरोना वायरस के खतरे को कम किया जा सके। लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण के अंदेशे के चलते महापडाव मे किसानों के बडी संख्या मे मौजूदगी प्रशासन के लिए चिन्ता का सबब बनी हुई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *