This Acharya Bhagwant reached Chaturmas in Mandwala
Uncategorized

#MANDWLA मांडवला में चातुर्मास को पहुंचे ये आचार्य भगवंत

स्वागत में उमड़े जैन समाज के लोग, जैन संतों ने दिए प्रवचन

सायला. मांडवला में श्री जिनकांतिसागरसूरि स्मारक ट्रस्ट एवं जहाज मंदिर चातुर्मास समिति द्वारा जहाज मंदिर परिसर के प्रवचन हॉल में आयोजित जिनमणिप्रभसूरीश्वर मसा के नगर प्रवेश के साथ चातुर्मास महोत्सव प्रारंभ हुआ। रविवार सवेरे मुनि मयंकप्रभसागर, मुनि मनितप्रभसागर, मेहुलप्रभसागर, नयज्ञसागर, मयूखप्रभसागर, महितप्रभसागर आदि मुनि तथा संघरत्ना प्रवर्तिनी साध्वी शशिप्रभाश्री, साध्वी विमलप्रभाश्री, साध्वी कल्पलताश्री आदि अपनी शिष्या मंडली ने जहाज मंदिर प्रांगण में प्रवेश किया।

आचार्य भगवंत श्रीमद् जिनमणिप्रभ सूरीश्वरर महाराज के 48वें चातुर्मास के लिए मांडवला में नगर प्रवेश पर श्री जैन संघ मांडवला ग्रामवासियों ने स्वागत किया। प्रवेश के बाद शासकीय आदेशों की अनुपालना करते हुए प्रवचन मंडप में जिनशासन गान एवं गुरूवन्दना तथा आचार्य भगवंत द्वारा मंगलाचरण प्रस्तुत किया गया। चातुर्मास भूमिका एवं संचालन जहाज मंदिर के मंत्री सूरजमल देवड़ा धोका खंडप निवासी ने किया। इस अवसर पर गुरुओं का गुरूपूजन बाड़मेर निवासी मदनलाल सगतमल मालु परिवार के रमेशकुमार मालु ने किया। काम्बली ओढ़ाकर जैन संतों का बहुमान किया। धर्मसभा को संबोधित करते हुए आचार्यश्री ने कहा कि गुरु महाराज जिनकांतिसागरसूरि महाराज की समाधि भूमि पर हमें गुरुदेव के साथ इसी मांडवला ग्राम में सन् 1985 की स्मृतियां आ रही है। सभा को मुनि मनितप्रभसागर, साध्वी शशिप्रभाश्रीजी, साध्वी कल्पलताश्री, साध्वी विश्वरत्नाश्री ने भी संबोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *