This dirty antics reached the jail in Sarawana
crime

#Jalore जालोर में यहां महिला की मौत के बाद तीन दिन से शव रखकर दे रहे थे धरना, आखिर ऐसे शांत हुआ मामला

खारा प्रकरण शांत होने के बाद पुलिस ने ली चैन की सांस
जालोर. करड़ा थाना क्षेत्र अंतर्गत खारा गांव में एक महिला की संदिग्ध मौत के प्रकरण में आखिरकार तीन दिन बाद बुधवार शाम को मामला शांत हो गया। मामले में आखिरकार थाना प्रभारी लालाराम समेत कुल चार जनों के खिलाफ मामला दर्ज करने के साथ शाम को पीएम हो पाया। इससे पहले तीन दिन तक शव पड़ा रहने से शव बदबू मारने लगा था और इन हालातों में एसपी और कलक्टर भी समझाइश को मौके पर पहुंचे थे, लेकिन बात नहीं बन पाई थी। आखिर कार शाम को मांगों पर अमल होने के बाद बात बन गई और परिजन राजी हो गए। मामले में पुलिस ने करड़ा थाना प्रभारी लालाराम के अलावा भंवरलाल जाट, लक्ष्मणराम जाट और मृतका के पुत्र सदराम के खिलाफ प्रकरण दर्ज किए है। इससे पूर्व लगातार तीसरे दिन भी घटनाक्रम में मृतका की संदिग्ध मौत के मामले में हत्या की आशंका जताते हुए परिजनों ने शव उठाने से इनकार कर दिया था। वार्ता को पहुंचे कलक्टर हिमांशु गुप्ता और एसपी हिम्मत अभिलाष से वार्ता भी विफल रही। परिजनों ने इस मामले में थाना प्रभारी को आरोपी बनाने की मांग की थी, जिसका पुलिस प्रशासन ने बचाव किया था। दूसरी तरफ शव तीन दिन पुराना होने से बदबू मारने लगा था। शाम को मांगें मानने के बाद मामला शांत हो गया और पीएम होने के साथ परिजन शव उठाने को तैयार हो गए।
यह था आरोप
घटनाक्रम के बाद से ही परिजन करड़ा थानाधिकारी पर वारदात में शामिल होने का आरोप लगाते हुए उन्हें तत्काल प्रभाव से निलम्बित करने व नामजद आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे थे। पुलिस प्रशासन ने कार्रवाई का भरोसा दिलाया था, लेकिन परिजन पहले स्तर पर कार्रवाई की मांग पर अड़े हुए थे। इन हालातों में ग्रामीणों के आक्रोश के चलते खारा में तनाव की स्थिति बनी हुई थी और मुख्य बाजार भी बंद रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *