Big effort to catch Panther, but not success
Jalore

पैंथर को पकडऩे के लिए बड़ी मशक्कत, लेकिन सफलता नहीं

– सप्ताहभर से जिले में दहशत का कारण बना हुआ है पैंथर

जालोर. कूकावास गांव में एक खेत में सुबह बाजरे की फसल के बीच पैंथर के पगमार्क देखे गए। पैंथर के पगमार्क मिलने पर ग्रामीणों ने वन विभाग व रैस्क्यू टीम को सूचना दी। सूचना पर वन विभाग व रैस्क्यू टीम कूकावास पहुंची। ग्रामीण श्रवण कुमार ने बताया कि सुबह वह खेत में टहल रहा था। इस दौरान खेत में पैंथर के पगमार्क दिखे। पगमार्क देखने के बाद वन विभाग की टीम को सूचना दी। टीम ने पगमार्क के आधार पर पैंथर की खोजबीन शुरू की, लेकिन अधिक बारिश व खेतों में फसल खड़ी होने से पैंथर का पता नहीं चल पाया।

पैंथर के कूकावास पहुंचने के बाद आस-पास के गांवों में दहशत का माहौल है। डीएफओ मंगलसिंह राठौड़ ने बताया कि शाम को पैंथर के कूकावास से सेवड़ी व वाड़ाभाड़वी के बीच नदी में पगमार्क मिले हैं। जिस पर रैस्क्यू टीम सेवड़ी नदी क्षेत्र में पहुंच रही है। खबर लिखे जाने तक टीम पैंथर का रैस्क्यू करने में जुटी हुई थी, लेकिन पैंथर का पता नहीं चल पाया। गौरतलब है कि पांच दिन से सांचौर के नेहड़ क्षेत्र में दहशत फैलाने के बाद सोमवार को निम्बाऊ गांव में पैंथर पहुंचा था। निम्बाऊ में एक खेत में टीम ने पैंंथर का रैस्क्यू करने की कोशिश की, लेकिन पैंथर वहां से निकल गया। इस दौरान पैंथर ने हमला कर दो-तीन लोगों को घायल भी किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *