National Politics

देश को आजाद कराने के खातिर पंडित नेहरू नो बार जले गए – राठौड़

– प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की पुण्यतिथि पर भीनमाल कोर्ट परिसर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दी पुष्पांजलि।

भीनमाल।
देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की पुण्यतिथि गुरुवार को भीनमाल कोर्ट परिसर में मनाई गई। महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति के संयोजक श्रवण सिंह राठौड़ के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पंडित जवारलाल नेहरू जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर पुष्पांजलि अर्पित की। इस दौरान नेहरू जी के योगदान को याद किया गया।

महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति भीनमाल के संयोजक श्रवण सिंह राठौड़ ने इस दौरान नेहरू जी के जीवन पर प्रकाश डाला। राठौड़ ने बताया कि देश को आजाद कराने के लिए पंडित नेहरू ने कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व में महात्मा गांधी के साथ मिलकर अंग्रेजों के खिलाफ लम्बी लड़ाई लड़ी। देश की आजादी के खातिर उन्होंने खुलकर अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई लड़ी।

नेहरू दस साल से ज्यादा समय तक जेल में बंद रहे। जानकारी के अनुसार नेहरू को 6 दिसम्बर 1921 को आनंदभवन से गिरफ्तार किया गया था।1922 में पहली बार तथा 1947 में आखीरी बार रिहा हुए थे इस दौरान नौ बार में सबसे कम12 दिन व सबसे अधिक 1041 दिनों के लिए जेल में बंद रहे। पहली बार 6 माह की सजा व 100 रूपये के जूर्माने से दंडित किया नेहरू जूर्माना अदा करने से मना किया तो लखनऊ जेल में बंद किया था।

आज जो राष्ट्रवाद के नाम पर देश में बड़ी बड़ी बातें कर रहे है, उन्होंने तब देश के लिए नाखून तक नहीं कटाया। ये बात नई पीढ़ी को पता तक नहीं होगी। पंडित नेहरू ने देश के नव निर्माण में जो योगदान दिया वो सदैव अविस्मरणीय रहेगा।

इस दौरान पूर्व पार्षद पुखराज विश्नोई ने कहा कि जवाहरलाल नेहरू जी जब प्रधामनंत्री बने उस समय देश में सुई तक बाहर से आयात होती थी। नेहरू जी ने ऐसी परिस्थितियों में देश में नींव की ईंट बनकर काम किया।

कांग्रेस नेता योगेंद्र सिंह दिया ने कहा कि आज देश में नेहरू जी के विचारधारा को आगे बढ़ाने की जरूरत है। इस पुण्यतिथि के अवसर पर डॉ रमेश देवासी, कांग्रेस नेता श्रवण ढाका, भेरूपाल सिंह दासपां और एडवोकेट जुंजारमल जाट ने भी विचार व्यक्त किये। इस मौके पर कांग्रेस कार्यकर्ता एडवोकेट आसूसिंह सेरना, एडवोकेट जुंजारमल जाट, आदि ने पुष्पांजलि दी।

shrawan singh
Contact No: 9950980481

One Reply to “देश को आजाद कराने के खातिर पंडित नेहरू नो बार जले गए – राठौड़

Leave a Reply