This person was going to Gujarat and this became the last journey
crime

#ACCIDENT ये शख्स जा रहे थे गुजरात और ये बन गया आखिरी सफर

– नेशनल हाइवे 68 का घटनाक्रम
जालोर. जिंदगी तो बेवफा है, इक दिन ठुकराएगी, मौत मेहबूबा है इक दिन तो आएगी। इस गीत के लेखक की यह लाइन हमेशा सार्थक और सटीक ही बैठती है। जैसा कि सांचौर के निकट हुए हादसे में हुआ। यहां से एक बोरिंग गाड़ी से गुजरात जा रहे दो युवकों को यह नहीं पता था कि यह उनका आखिरी सफर है। ओवरटेक के चक्कर में अचानक गाड़ी पलटी और दोनों युवक उसके नीचे दबे और मौत हो गई।
ऐसे हुआ हादसा
नेशनल हाईवे 68 पर सोमवार दोपहर को हुए सड़क हादसे में दो जनों की दर्दनाक मौत हो गई। हादसे की सूचना पर सांचोर पुलिस मौका स्थल पर पहुंची इस दौरान हादसे एक जने की मौका स्थल पर ही मौत हो गई वह दूसरे की अस्पताल ले जाते वक्त बीच रास्ते में ही दम तोड़ दिया। पुलिस ने बताया कि बाड़मेर से सांचोर की ओर बोरिंग मशीन की गाड़ी पर सवार दो युवक आ रहे थे इस दौरान कमालपुरा सरहद में ओवरटेक करने के दौरान वन का संतुलन बिगड़ गया। इस दौरान उनका वाहन पलटी खा गया, जिससे उस पर सवार गोदरा गुजरात निवासी शैलेश भाई वह राजकोट निवासी ईश्वर भाई पटेल की दर्दनाक मौत हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *