Religious

सायला में जालोर महोत्सव के तहत निकाली भव्य शोभायात्रा

महोत्सव के तहत हुआ दो दिवसीय जलसों सायला रों का शुभारम्भ

सायला।
उपखंड मुख्यालय पर शनिवार को जालोर महोत्सव 2020 के तहत दो दिवसीय जलसों सायला रों का शुभारम्भ हुआ। इस मौके शोभायात्रा, गेर नृत्य, सांस्कृतिक नृत्य एवं खेल प्रतियोगिता सहित विभिन्न कार्यक्रम हुए। जिसमें क्षेत्रभर से अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों एवं ग्रामीणों ने भाग लिया।
महोत्सव के सायला उपखण्ड समन्वयक सुल्तान खान भाटी ने बताया कि समारोह के तहत सर्वप्रथम अतिथियों ने मां सरस्वती की तस्वीर के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित किया। साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं अश्व नृत्य की प्रस्तुति दी गई।

इसके बाद अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों ने हरी झंडी दिखाकर शोभायात्रा को रवाना किया। शोभायात्रा में सबसे आगे सुसज्जित मालाणी नस्ल के अश्व, ऊंट, सडक सुरक्षा की थीम पर आधारित मोटरसाइकिल चालक एवं पर्यावरण संरक्षण का संदेश देती साईकिल सवार बालिकाएं चल रही थी। इनके पीछे डीजे, राजस्थानी की सतरंगी वेशभूषा में सुसज्जित कलशधारी बालिकाएं, राजस्थानी खडक ढोल, सायला की सुप्रसिद्ध डबल गेर, चंग फागण नृत्य, राजस्थानी वेशभूषा में जनप्रतिनिधि, अधिकारी एवं कर्मचारी, केसरियां साफा में गोविन्दा ग्रुप के कार्यकर्ता एवं सुसज्जित रथ चल रहे थे। वहीं अंत में विभिन्न विभागों की झांकियां थी, जो लोगों को संदेश दे रही थी। शोभायात्रा खेलमैदान से रवाना होकर पंचायत समिति रोड, ब्रह्मपुरी, पुराना बस स्टैंड, अम्बे माता मन्दिर होते हुए पुनः खेलमैदान पहुंचकर विसर्जित हुई। इधर शोभायात्रा का जगह-जगह लोगो द्वारा पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया। इस अवसर पर उपखण्ड अधिकारी गोमती शर्मा, विकास अधिकारी आवडदान चारण, सायला सरपंच रजनी कंवर, उपखण्ड समन्वयक सुल्तान खान भाटी, नायब तहसीलदार गणपतसिंह जोधा, एक्सईएन गोपालराम, बीसीएमओ डाॅ. रघुनन्दन विश्नोई, समाजसेवी विक्रमसिंह दहिया, ओटवाला सरपंच दीपाराम मेघवाल, ग्राम विकास अधिकारी मनमोहन प्रजापत, संतोष कुमार जोशी, कनिष्ठ लिपिक दिनेश राजपुरोहित, उपसरपंच प्रकाश कुमार, पूर्व सरपंच सुरेश राजपुरोहित, निजी शिक्षण संस्थान के ब्लाॅक अध्यक्ष हरीश त्रिवेदी, दलपतसिंह थलवाड, दुर्गसिंह तूरा, मुकेश कुमार छीपा, कर्मेश कानेकर, उदयसिंह चैहान, नैनमल लखारा, भरत मेघवाल आलासन, शारीरिक शिक्षक महेश शर्मा, बालकृष्ण शर्मा, मंगलसिंह सायला, मंगलसिंह ओटवाला, खुश्बू गहलोत, दीपांजली, सरोज फरडोलिया समेत हजारों की संख्या में लोग मौजूद थे।

गेरियों ने बटोरी वाहवाही


खेलमैदान में आयोजित कार्यक्रम में गेर नृत्य ने समां बांध दिया। स्थानीय गेरियों ने पारंपरिक वेशभूषा में ढोल-थाली की थाप पर गेर नृत्य की प्रस्तुति दी। गेर दल ने शोभायात्रा के दौरान पुराना बस स्टैंड एवं अम्बे माता मंदिर चैक पर गेर नृत्य की प्रस्तुति देकर वाहवाही बटोरी। वही रामदेव ग्रुप रेवतडा द्वारा चंग फागण नृत्य की प्रस्तुति दी। जिससे जालोर की ऐतिहासिक संस्कृत जीवन्त हो उठी। इस दौरान लोगो ने भी करतल ध्वनि द्वारा कलाकारो का उत्साह बढाया।

झाकियां रही आकर्षण की केंद्र


महोत्सव के तहत निकाली गई शोभायात्रा में मनोज रिया एण्ड पार्टी दिल्ली द्वारा राम-बालाजी दरबार, शिव पार्वती, श्रीकृष्ण राधा की झाांकियां प्रस्तुत की गई। जिसे देखकर लोग मंत्रमुग्ध हो गए। वही सरस्वती बात विद्या मन्दिर की भारतमाता एवं वीरम मेमोरियल स्कूल सायला की वीर वीरमदेव की झाकियां आकर्षण की केंद्र रही। शोभायात्रा में चिकित्सा विभाग, जलदाय विभाग व ग्राम पंचायत आदि की विभिन्न झांकियां भी शामिल थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *