Uncategorized

उचित मूल्य की दुकानों से आमजन को 31 मार्च तक मिलेगी ओटीपी के माध्यम से राशन सामग्री

– लाभार्थी अपना रजिस्टर्ड मोबाइल चालू स्थिति में साथ लेकर जायें
जालोर।
जिले में आगामी 31 मार्च तक आमजन को उचित मूल्य की दुकानों से उपलब्ध करवाई जाने वाली राशन सामग्री पोस मशीन से वर्तमान व्यवस्था बायोमैट्रिक सत्यापन के स्थान पर ओ.टी.पी. प्रणाली से की जायेगी। जिला रसद अधिकारी लल्लूराम मीणा ने इस संबंध मंे निर्देश जारी कर स्पष्ट किया है कि इस व्यवस्था के अन्तर्गत सर्वप्रथम डीलर द्वारा लाभार्थी का राशन कार्ड नम्बर, पोस मशीन में प्रविष्ठ किया जायेगा। इसके बाद लाभार्थी के भामाशाह, जनाधार या आधार डेटाबेस उपलब्ध मोबाइल नम्बर पर एसएमएस के माध्यम से ओटीपी भेजा जायेगा। लाभार्थी डीलर को ओटीपी नम्बर उपलब्ध करवायेगा। जिसे पोस मशीन में दर्ज कर सत्यापन के बाद डीलर द्वारा लाभार्थी को राशन सामग्री का वितरण पोस मशीन से कर दिया जायेगा। यदि लाभार्थी तय सीमा में डीलर को ओटीपी उपलब्ध नहीं करवा पाता है तो एक रजिस्टर में ओ.टी.पी. प्राप्त नहीं हुआ, मोबाइल नम्बर रजिस्टर्ड नहीं हैं या लाभार्थी के पास मोबाइल नहीं आदि उपर्युक्त कारण निर्दिष्ठ कर राशन सामग्री वितरित की जायेगी। आॅफलाइन उचित मूल्य की दुकानों के अलावा राशन वितरण संबंधी समस्त ट्रांजेक्शन पोस मशीन द्वारा ही किये जायेंगे। लाभार्थी अपना मोबाइल नम्बर चालू स्थिति में सामग्री लेने के लिये उचित मूल्य की दुकान पर अपने साथ लेकर जायें।
बायोमैट्रिक मशीन का उपयोग नहीं करने के निर्देश –
सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अतिरिक्त उपस्थिति, जन आधार कार्ड वितरण एवं काश्तकारों के समर्थन मूल्य के लिये पंजीकरण प्रक्रिया में बायोमैट्रिक मशीन का उपयोग नहीं करने के निर्देश जारी किये गये हैं। इसमें भी ओटीपी के माध्यम से वितरण एवं पंजीकरण व्यवस्थायें सुनिश्चित करने को कहा गया है। सूचना प्रौद्योगिकी और संचार विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार इन केन्द्रों पर अनावश्यक भीड़ एकत्रित नहीं होने देने साथ ही कार्यालय, ई-मित्र कियोस्क, दरवाजे, कुर्सियों, अलमारियों, मेज, सीढ़ियों की रैलिंग, फर्श एवं संभावित मुख्य स्पर्श मंे आने वाली वस्तुओं, उपकरणों को एक प्रतिशत हाइपोक्लोराईड से साफ रखने की हिदायत भी दी गई है।