Uncategorized

दर्शिल ने अपने गुल्लक को तोड़कर क्यों दी सहायता राशि… देखिए पूरी खबर

जालोर।
कोरोना वायरस संक्रमण की आपातस्थिति में मंगलवार को केन्द्रीय विद्यालय जालोर में कक्षा सातवी में पढ़ने वाले बच्चे ने संकट की घड़ी में कई समृद्ध व्यक्तियों के सामने मिसाल पेश की है। जिले में कई भामाशाह अपनी अपनी हैसियत के अनुसार जिला कलक्टर के आव्हान पर राशि दान कर रहे हंै। जिसमें बच्चे भी इससे पीछे नहीं है। मंगलवार को केन्द्रीय विद्यालय जालोर मंे सातवीं कक्षा पढ़ने वाले दर्शिल कुमार पुत्र चरणसिंह ने अपने नन्हें हाथों से जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता को जब अपनी गुल्लक को तोड़कर एकत्रित की हुई राशि 13 हजार 270 रूपये नकद दिये तो कलक्टर गुप्ता भी उसकी पीठ को थपथपाने के लिये खुद को रोक नहीं पाए। साथ ही इस नेक कार्य के लिये बच्चे की सराहना करते हुए पेन उपहार स्वरूप दी। दर्शिल के पिता चरणसिंह चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में जिला कार्यक्रम प्रबन्धक के पद पर कार्यरत है।

फोटो कैप्शन – जालोर गुल्लक तोडकर कलक्टर को सहायता राशि भेंट करता दर्शिल।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *