Jalore

#Jalore शादी समारोह से जुडे व्यापारियों ने किस लिए सौंपा ज्ञापन, यहां देखिए पूरी खबर

शादी समारोह से जुडे व्यवसायों को अनुमति देने एवं शादी मे शामिल व्यक्तियों की संख्या बढाने की मांग
– सायला तहसील टेन्ट व लाईट किराया व्यवसाय समिति ने प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन
सायला।

सायला तहसील टेन्ट व लाईट किराया व्यवसाय समिति द्वारा गुरूवार को वेडिंग इंडस्ट्रीज को बचाए रखने के लिए शादी समारोह में 300 से 400 व्यक्तियों के शामिल होने की छूट देने सहित विभिन्न मांगों को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नाम उपखण्ड अधिकारी सीमा तिवाडी को ज्ञापन सौंपा गया।
ज्ञापन में बताया कि कोरोना महामारी के कारण शादी समारोह में अधिकतम 50 से 100 व्यक्तियों के शामिल होने की अनुमति दे रखी है। जिसके चलते टेन्ट व्यवसाय एवं इससे जुडे अन्य व्यवसाय यथा इवेन्ट व्यवसाय, लाईट डेकोरेशन, बैण्ड पार्टी, फोटोग्राफर, डीजे साउण्ड, आर्केस्ट्रा, केटरिंग, हलवाई, विवाह स्थल संचालकों के सामने रोजी रोटी का संकट पैदा हो गया है। जबकि समारोह स्थल को कार्यक्रम शुरू होने एवं समाप्ति के बाद पूर्ण सैनेटाइज करने, प्रवेश द्वारा पर सैनेटाइजर लगाने एवं मुंह पर मास्क लगाने, समारोह की समयावधि सवेरे 7 बजे से रात्रि 8 बजे तक निर्धारित करने, भोजन व्यवस्था बैठाकर छोटे छोट ग्रुप के माध्यम से करने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने, समारोह स्थल पर प्रति व्यक्ति सौ फीट के हिसाब से क्षेत्रफल की अनिवार्यता करने व पार्किंग व्यवस्था करने, आगन्तुक मेहमानों की थर्मामीटर जांच अनिवार्य करने, थूकने पर पाबंदी, 10 वर्ष से कम एवं 65 वर्ष से अधिक आयु वाले व्यक्तियों को समारोह में शामिल नही करने, किसी भी प्रकार के लक्षण दिखने पर उस व्यक्ति को कार्यक्रम में शामिल नही करने आदि सुझावों को लागू करने पर शादी समारोह आसानी से संपन्न हो सकते है। वही लाॅकडाउन के कारण सीजनल व्यापार पूरा समाप्त हो गया है तथा इनसे जुडे व्यापारियों को आर्थिक संटक का सामना करना पड रहा है। ज्ञापन में सरकार को कोविड-19 गाइडलाईन में संघ के सुझावों को शामिल कर शादी समारोह में तीन सौ से चार सौ व्यक्तियों के शामिल होने की छूट देने एवं इससे जुडे अन्य व्यवसायों को अनुमति प्रदान करने की मांग की है। इस दौरान तहसील अध्यक्ष अशोक सुथार, चन्द्रप्रकाश शर्मा, दिन मोहम्मद, भंवरदास रामावत, अशोक वैष्णव, प्रेमकिशोर छीपा, मोहनलाल, मसराराम सुथार, हंसराज आलासन, मेघाराम, जबराराम, पुखराज राजपुरोहित, अनवर खां, मदनलाल माली, मदन सैन, चतराराम मेघवाल, भरत खवास, तेजाराम, सुरेश कुमार, जबरगिरी, प्रेमांजली शर्मा, मोहनलाल, सांकलाराम, पारसाराम, सलीम खां आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *