Uncategorized

जिले मे अब तक लिए 126 सैंपल, 119 नेगेटिव, 7 सैंपल प्रक्रियाधीन …देखिए पूरी खबर

– प्रभावी माॅनिटरिंग से अब तक कोरोना संक्रमण से मुक्त है जालोर जिला
जालोर।

कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रशासन एवं चिकित्सा विभाग तत्परता से जुटा हुआ है एवं जिले में होने वाली समस्त गतिविधियों की नियमित माॅनिटरिेंग की जा रही है।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. गजेन्द्र सिंह देवल ने बताया कि जिले में कोरोना संक्रमण की जांच के लिए अब तक कुल 126 सेम्पल लिये गये हंै। इनमें से 119 सेम्पल की रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त हुई है। वहीं 7 सेम्पल प्रक्रियाधीन है। चिकित्साकर्मियों द्वारा घर-घर जाकर स्क्रीनिंग कर लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण के प्रति जागरूक किया जा रहा है। विभाग की ओर से मंगलवार को 554 टीमों द्वारा घर घर जाकर सर्वे किया गया एवं जिले में अब तक 2 लाख 24 हजार 207 घरों का सर्वे कर 7 लाख 12 हजार 115 सदस्यों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है
सीएमएचओ डाॅ. देवल ने बताया कि चिकित्सा विभाग का प्रत्येक कार्मिक मुस्तैदी से कार्यरत है। प्रशासन एवं चिकित्सा विभाग द्वारा कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए हर संभव प्रयास किये जा रहे हंै एवं नियमित माॅनिटरिंग की जा रही है। आमजन भी सतर्क है और सरकार द्वारा जारी एडवाईजरी की नियमित रूप से पालना कर प्रशासन एवं चिकित्सा विभाग का सहयोग कर रही है, उसी के फलस्वरूप जालोर जिला अब तक कोरोना संक्रमण से मुक्त है। जिला स्तर पर कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एस.के. चैहान के नेतृत्व में गठित दल द्वारा जिले में सूचनाआंे की नियमित माॅनिटरिंग एवं रिपोर्टिंग की जा रही है। दल में सहा. प्रशा. अधि. भंवरलाल, मोहनलाल, कनिष्ठ सहायक विरेन्द्रपाल सिंह, भगवत सिंह, जितेन्द्र कुमार, अभिमन्यु सिंह, नन्दु सिंह, आसिफ खान सु.सहा., रविन्द्र कुमार, जावेद अख्तर, आसीफ खान, पुष्पेन्द्र सिंह, ललित कुमार, अर्जुन कुमार गुलाम मोहम्मद कोरोना संक्रमण रोकथाम में तत्परता से जुटे हुए हैं।
238 लोगों को किया होम आईसोलेटेड
जिले में विदेशों एवं कोरोना प्रभावित क्षेत्रों से आये प्रवासियों में अब तक कुल 238 लोगों को होम आईसोलेट किया गया था इनमें से 23 व्यक्तियों के आईसोलेशन दिवस पूर्ण हो चुके हैं। वर्तमान में जिले में 215 व्यक्तियों को होम आईसोलट किया गया है। होम आईसोलेट किये गये घर के बाहर सूचना प्रर्दशित कर व्यक्ति को 28 दिनों तक घर में ही रहने एवं चिकित्सा विभाग का सहयोग करने के लिये पाबंद किया जा रहा है। चिकित्सा विभाग के दल उन व्यक्तियों की प्रतिदिन नियमित रूप से फोलोअप एवं मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *