Uncategorized

जालोर के ग्रेनाइट उद्यमी की मौत, मजदूरों ने की कोरोना वायरस जांच की मांग

जालोर।
जिले के एक ग्रेनाइट उद्यमी की 29 मार्च रविवार शाम को हुई मौत ने सनसनी फैला दी है। दरअसल मामला यह है कि सीकर निवासी बनवारीलाल जाट जालोर में बालाजी ग्रेनाइट संचालित करते है। बनवारीलाल 15 मार्च को सीकर से बस द्वारा जयपुर गए। जो 1 दिन जयपुर में रुकने के बाद अगले दिन जयपुर से जालोर आए थे। उसी दिन उनको बुखार आ गया व जुकाम लग गया। उन्होंने तीन बार सरकारी अस्पताल में दिखाया और 1 दिन श्रीराम अस्पताल में भर्ती भी रहे। किसी भी डॉक्टर ने उनकी कोरोना वायरस की जांच नहीं की। बनवारीलाल को तकलीफ ज्यादा हुई तो उन्होंने 1 दिन पहले अपने घर वालों को फोन करके बोला कि उनके सांस लेने में बहुत तकलीफ हो रही है। उन्हें यहां से ले जाओ। कल 29 मार्च को उनको ज्यादा तकलीफ हुई तो जालोर सरकारी अस्पताल में दिखाने ले गए। जहां डॉक्टर्स ने उनका नॉर्मल इलाज किया। उसके बाद शाम को उनकी मौत हो गई। उनकी उम्र करीब 40 वर्ष की थी। श्री श्याम स्टोन के पेमाराम ने बताया कि बनवारीलाल की मौत के बाद उनकी फैक्ट्री के मजदूरों का प्रशासन से निवेदन है कि उनकी कोरोनावायरस की जांच की जाए ताकि उनकी मौत की वास्तविकता का पता चल सके। साथ ही उनके सम्पर्क में आने वाले लोगों की भी जांच की जाए। जिससे कोरोना वायरस को फैलने से पहले रोका जा सके। इधर, जानकारी में आया कि बनवारीलाल हार्ट के मरीज भी थे। जिस कारण कोरोना की आशंका कम है। वहीं ग्रेनाइट एसोशिएशन के अध्यक्ष लालसिंह धानपुर ने बताया कि हार्ट मरीज होने की जानकारी सामने आई है। फिर भी ऐहतियातन सम्पर्क में आये मजदूरों की कोरोना जांच करवा दी जाएगी। इधर घटना के बाद कलेक्टर हिमांशु गुप्ता ने कहा कि जालोर के ग्रेनाइट उद्यमी बनवारीलाल जाट हार्ट के मरीज थे। जो उनकी मौत का कारण बना। उनमे कोरोना के लक्षण नहीं थे। फिर भी एहतियातन उनके सम्पर्क के 4 जनों को आइसोलेशन किया गया है जबकि 1 जने का नमूना लेकर जांच के लिए भेजा हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *