crime Jalore

अवैध कब्जा: सरकारी जमीन हड़पने की होड़ जांच के लिए बनी समिति ने भी माना अवैध कब्जा, लेकिन नहीं हुई सख्त कार्रवाई

बागोड़ा।
उपखंड मुख्यालय के वीर पृथ्वीराज चैराहे पर खाली पड़ी सरकारी जमीन पर रसूखदार लोगों ने करोड़ो की सरकारी जमीन अपने कब्जे में लेकर उस पर शोपिंग कोम्पलेक्स बना दिया।
उपखण्ड मुख्यालय पर शासन-प्रशासन की ओर से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई तो जरूर होती है, लेकिन यह कार्रवाई सिर्फ गरीब तबकों के लोगों पर ही होती है। प्रशासन को गरीब या भूमिहीन द्वारा किया गया अवैध कब्जा तो दिखाई देता है, लेकिन रसूखदार लोगों के बड़े-बड़े काॅम्पलेक्स दिखाई नहीं देते है। राजनीतिक पहुंच के चलते अधिकारी भी ऐसे भूमाफियाओं पर कार्रवाई करने से कतराते है। बागोड़ा कस्बे के मैन बाजार में गांव के ही एक व्यक्ति द्वारा अपने निर्धारित माप से अधिक खाली पड़ी सरकारी जमीन पर भी कब्जा पर उस पर शोपिंग काॅम्पलेक्स बना दिया लेकिन जिम्मेदार अधिकारियों की ओर से किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की गई। जब ग्रामीणों ने विरोद्ध किया तो तत्कालीन तहसीलदार मोहम्मद इकबाल ने इस अवैध काॅम्पलेक्स की जांच कमेटी बनाई। जिसमें पटवारी, आरआई एवं तहसीलदार द्वारा जांच करने पर नाप से अतिरिक्त कब्जा पाया गया। अतिक्रमी को नोटिस भी दिया गया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।
सड़क तक बना डाली सीढियां
अतिक्रमी ने दुकानो के बाहर सड़क तक सीढियां बना डाली है, लेकिन न तो ग्राम पंचायत कार्रवाई कर रही है और न ही उपखंड प्रशासन। पंचायत से पुछने पर भी कोई संतोषप्रद जवाब नहीं दिया जाता है। अवैध अतिक्रमण पर कार्रवाई नहीं होने से अतिक्रमियों के हौंसले दिनों-दिन बुलंद होते जा रहे है।
कार्रवाई होने पर कई अतिक्रमण आएंगे सामने
सरकार अगर अवैध अतिक्रमण को लेकर कार्रवाई करे तो बागोड़ा में ऐसी दर्जनों इमारते हैं जो अतिक्रमण कर बनाई गई है। उन सभी पर गाज गिर सकती है।
अतिक्रमी ने ओढ रखा भामाशाह का चोला
बागोड़ा में अतिक्रमी ने अवैध तरीके से कई जगह सरकारी जमीन पर कब्जा कर उसे बेच देता है। फिर अवैध तरीके से की गई कमाई मे से कुछेक हिस्सा ग्राम विकास में लगा लेता है, जिसके चलते वह भामाशाह बन बैठा है। भामाशाह का चोला ओढने से उन पर किसी तरह की कोई कार्रवाई भी नहीं होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *