Jalore

खाद्य प्रसंस्करण इकाई लगाने पर योजना के तहत मिलेगा 35 प्रतिशत अनुदान, इस प्रकार करें आवेदन – देखिए पूरी खबर

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना –
जालोर।
केन्द्र सरकार द्वारा सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण इकाई लगाने के लिए प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना (पीएमई) शुरू की गई है जिसके तहत 35 प्रतिशत अनुदान (सब्सिडी) दिया जायेगा।
श्री कान्हड़देव सोनगरा कृषि उपज मण्डी समिति जालोर के सचिव डॉ. पूरणसिंह जैतावत ने बताया कि प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना के तहत जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में खाद्य सामग्री से जुड़े उत्पाद की इकाई स्थापित की जा सकती है। योजना के अंतर्गत आटा चक्की, सरसों का तेल निकालने की मशीन, मसाला उद्योग आदि प्लांट लगाकर पात्र लोग लाभान्वित हो सकते है। यदि कोई व्यक्ति पूर्व में चल रहे प्लांट को मॉडीफाइड करना चाहता है तो वह भी योजना का लाभ ले सकता है। इसके लिए कृषि उपज मण्डी समिति जालोर एवं कृषि विपणन विभाग जोधपुर के अधिकारियों से संपर्क कर आवेदन की प्रक्रिया पूरी की जा सकती है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना में लागत का 35 प्रतिशत या अधिकतम 10 लाख रूपये अनुदान का प्रावधान है। अनुदान बैंक से ऋण लेने पर ही देय होगा। अनुदान राशि तीन वर्ष बाद लाभार्थी के बैंक खाते में ट्रांसफर की जायेगी। अनुदान राशि पर ब्याज भी नहीं चुकाना होगा। उन्होंने बताया कि यह योजना स्वयं का व्यवसाय करने वाले लोगों के लिए काफी लाभदायक है। योजना के तहत खाद्य प्रसंस्करण इकाई लगाने के लिए अगर किसी व्यक्ति के पास स्वयं की जगह नहीं है तो वह किराए पर दुकान व भवन लेकर औद्योगिक इकाई लगा सकता है इसमें भी 35 प्रतिशत अनुदान देय होगा। अगर ग्रामीण क्षेत्र में किसी व्यक्ति के पास पट्टाशुदा भूखण्ड है तो उसमें वह निर्माण करवाकर प्लांट लगा सकता है। निर्माण पर आने वाली लागत का भी 35 प्रतिशत अनुदान देय होगा।

व्यक्तिगत के साथ स्वयं सहायता समूह को भी अनुदान देय
प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना के तहत व्यक्तिगत एवं स्वयं सहायता समूहों को भी अनुदान देय है। यह योजना 35 प्रतिशत क्रेडिट-लिक्ड अनुदान सहित संपूर्ण मूल्य श्रृंखला अर्जित पूंजी निवेश के लिए एफपीओ, स्वयं सहायता समूहों या उत्पादक सहकारिताओं को सहायता प्रदान की जाएगी। व्यक्तिगत सूक्ष्म खाद्य उद्यमों की स्थापना के लिए वर्किंग कैमिटल तथा छोटे औजारों की खरीद के लिए खाद्य प्रसंस्करण में कार्यरत स्वयं सहायता समूहों के प्रत्येक सदस्य को 40 हजार रूपये की दर से प्रारम्भिक पूंजी प्रदान की जाएगी। अनुदान के रूप में प्रारंभिक पूंजी एसएचडी फेडरेशन के स्तर पर दी जाएगी।

आवेदन के लिए यह दस्तावेज आवश्यक 
सचिव ने बताया कि योजना के तहत आवेदन के लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड, उद्यमों के पंजीकरण, पते का प्रमाण पत्र, 6 माह की अपनी बैंक स्टेटमेंट व व्यवसाय का स्वामित्व प्रमाण पत्र आदि दस्तावेज आवश्यक होंगे। योजना से संबंधित अधिक जानकारी के लिए कृषि उपज मण्डी समिति जालोर के सचिव डॉ. पूरणसिंह जैतावत के मोबाइल नम्बर 9414533536, रिसोर्स पर्सन नितिश के मो.नं. 7014992407 एवं भीमराज सैनी के मो.नं. 8003873206 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *