Politics

सांचौर की 7, चितलवाना की 9 व सरनाऊ की 5 ग्राम पंचायतों में पंच-सरपंच के चुनाव संबंधित क्षेत्रों में आदर्श आचार संहिता लागू

सायला/जालोर। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी पंचायतीराज आम चुनावों के कार्यक्रम के तहत सांचौर पंचायत समिति की 7 ग्राम पंचायतों, चितलवाना पंचायत समिति की 9 ग्राम पंचायतों व सरनाऊ पंचायत समिति की 5 ग्राम पंचायतों में पंच व सरपंच के चुनाव 15 मार्च 2020 को करवाये जायेंगे। जिला निर्वाचन अधिकारी हिमांशु गुप्ता ने बताया कि जिले में पंचायतीराज आम चुनाव 2020 के तहत प्रथम चरण में सुरक्षित अभिरक्षा में रखे गये नाम निर्देशन पत्रों वाली ऐसी ग्राम पंचायतें जिनका पुनर्गठन व पुनर्सीमांकन पंचायतीराज विभाग की 16 नवम्बर, 2019 को जारी अधिसूचना के पश्चात् की गई अधिसूचनाओं में नहीं किया गया है एवं सरपंच एवं पंच पदों के आरक्षण बाद भी पूर्वानुसार ही उसी वर्ग या जाति के लिए आरक्षित हैं। ऐसी प्रथम चरण की उन ग्राम पंचायतों में पंच व सरपंच के आम चुनाव होंगे।उन्होंने बताया कि राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी कार्यक्रमानुसार सांचौर पंचायत समिति की डाबल ग्राम पंचायत व 9 वार्डो़, धमाणा ग्राम पंचायत व 9 वार्डों, हाडेतर ग्राम पंचायत व 13 वार्डों, खारा ग्राम पंचायत व 13 वार्डों, मेडाजागीर ग्राम पंचायत व 9 वार्डों, सूथाना (आर) ग्राम पंचायत व 9 वार्डों एवं विरोल ग्राम पंचायत व 11 वार्डों में पंच व सरपंच के आम चुनाव करवाए जाएंगे। इसी प्रकार चितलवाना पंचायत समिति की दूठवा ग्राम पंचायत व 13 वार्डों, होथीगांव ग्राम पंचायत व 9 वार्डों, जोधावास ग्राम पंचायत व 9 वार्डों, जोरादर ग्राम पंचायत व 9 वार्डों, केसुरी ग्राम पंचायत व 9 वार्डों, खेजडियाली ग्राम पंचायत व 9 वार्डों, सेसावा ग्राम पंचायत व 13 वार्डों, सिपियों की ढ़ाणी (आर) ग्राम पंचायत व 7 वार्डों एवं सुराचन्द ग्राम पंचायत व 11 वार्डों में पंच व सरपंच के चुनाव होंगे। सरनाऊ पंचायत समिति की भाटीप ग्राम पंचायत व 11 वार्डों, कोटडा ग्राम पंचायत व 9 वार्डों, नेनोल ग्राम पंचायत व 13 वार्डों, पुर ग्राम पंचायत व 11 वार्डों एवं सेवाड़ा ग्राम पंचायत व 9 वार्डो में पंच व सरपंच के आम चुनाव होंगे। उन्होने बताया कि चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही संबंधित निर्वाचन क्षेत्रों में आदर्श आचरण संहिता के प्रावधान तुरन्त प्रभाव से लागू हो गए हैं, जो चुनाव प्रक्रिया समाप्ति तक लागू रहेंगे। आदर्श आचरण संहिता के अन्तर्गत संबंधित पंचायतीराज संस्थाओं में आदर्श आचार संहिता के तहत पंचायतीराज संस्थाओं की बैठकें चुनाव समाप्ति तक आयोजित नहीं की जा सकेगी। पंचायतीराज संस्थाओं के किसी भी वाहन का उपयोग प्रधान, जिला प्रमुख या अन्य किसी जनप्रतिनिधि द्वारा नहीं किया जा सकेगा। किसी भी अधिकारी या कार्मिक को मुख्यालय छोड़ने की अनुमति व उपार्जित अवकाश इत्यादि स्वीकृत नहीं किया जायेगा। उपार्जित अवकाश जिला निर्वाचन अधिकारी (पंचायत) द्वारा ही स्वीकृत किया जाएगा। निर्वाचन से जुड़े कोई भी अधिकारी, मंत्री व अन्य जनप्रतिनिधियों के भ्रमण के दौरान उनके प्रोटोकॉल अथवा स्वागत के लिए नहीं जाएंगे तथा न ही उनके साथ भ्रमण करेंगे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *