Uncategorized

नवाचारो से विद्यार्थियों को लाभान्वित कर बोर्ड परीक्षा में बेहतर परिणाम दें – एसडीएम

– दो दिवसीय सत्रान्त वाक्पीठ संगोष्ठी का शुभारम्भ

सायला।

उपखण्ड मुख्यालय पर स्थित संत राजेश्वर पब्लिक स्कूल में बुधवार को प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक राजकीय एवं निजी विद्यालयों के संस्थाप्रधानों की शैक्षिक एवं प्रशासनिक विषयों पर दो दिवसीय सत्रान्त वाक्पीठ संगोष्ठी का उपखण्ड अधिकारी गोमती शर्मा के मुख्य आतिथ्य एवं सायला सरपंच रजनी कंवर की अध्यक्षता में आयोजन हुआ। बतौर विशिष्ठ अतिथि तहसीलदार मदाराम पटेल, अतिरिक्त मुख्य ब्लाॅक शिक्षा अधिकारी परबताराम चौधरी, समाजसेवी एवं पूर्व उपसरपंच विक्रमसिंह दहिया मौजूद रहे।कार्यक्रम के तहत सर्वप्रथम अतिथियों द्वारा सरस्वती माता की तस्वीर के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित किया। इस मौके उपखण्ड अधिकारी गोमती शर्मा ने कहा कि दो दिवसीय संगोष्ठी में विभिन्न गतिविधियों एवं नवाचार के बारे में जानकारी दी जाएगी। जिसे पूर्ण मनोयोग से विद्यालय में प्रयोग कर विद्यार्थियों को लाभान्वित करने एवं बोर्ड परीक्षाओं में बेहतर परिणाम लाने की बात कही। साथ ही वाक्पीठ के शुभारम्भ की घोषणा की। सरपंच रजनी कंवर ने जिले में बालिका शिक्षा की कमजोर स्थिति को सुधारने के लिए सभी संस्थाप्रधानों से आह्वान किया। साथ ही बच्चो को उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रेरित करने के बात कही। वही स्थानीय विद्यालय में पिछले तीन साल से मौजूद पेयजल की समस्या का समाधान करने के लिए पानी का कनेक्शन करवाने की घोषणा की। वाक्पीठ संयोजक हीरालाल चौधरी ने स्वागत भाषण दिया। वाक्पीठ सचिव रामचन्द्र द्विवेदी ने वाक्पीठ संबंधित विभिन्न बिन्दुओं पर प्रकाश डाला। संगोष्ठी में महाराजसिंह, मानाराम धाणक, पुष्पकान्त पाण्डेय ने भी विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में भामाशाह ताराराम पुत्र तोलाराम चौधरी एवं करताराम पुत्र हाथीराम चौधरी का साफा एवं माला पहनाकर सम्मान किया गया। इस दौरान कस्तूराराम चौधरी, लीलाराम, भीमाराम चौधरी, दुर्गसिह तूरा, अमरसिंह भूण्डवा, नोपाराम, अरविन्द जीनगर, छैलसिंह बारहठ, अशोक लोहार, उम्मेदसिंह डूडी, धुकाराम, रूपाराम, जितेन्द्र चौधरी, अम्बालाल समेत बडी संख्या में शिक्षकगण मौजूद थे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *