Uncategorized

जिले में कोरोना वायरस से अब तक एक व्यक्ति भी संक्रमित नहीं

एडवाईजरी की पालना नहीं करने पर संबंधित के विरूद्ध होगी कानूनी कार्यवाही

जालोर।
जिले में कोरोना (कोविड-19) वायरस से सोमवार तक एक भी व्यक्ति संक्रमित नहीं है। ऐहतियात के तौर पर खांसी, जुकाम, बुखार से पीड़ित व्यक्ति की स्वास्थ्य जांच संवेदनशीलता से की जा रही है। संदेहास्पद मरीज को आइसोलेशन वार्ड या क्वैरांटाईन में निश्चित समयावधि में रखकर पर्याप्त चिकित्सा सुरक्षा प्रबन्ध किये गये हैं।
जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता ने यह जानकारी सोमवार को अपने कक्ष में इलेक्ट्रोनिक एवं प्रिंट मीडिया के प्रभारी व प्रतिनिधियों से बातचीत के दौरान दी। उन्हांेने कहा कि गाईडलाईंस के अनुसार जिले में विदेश से आने वाले या विदेशी से संपर्क में आने वाले व्यक्ति या संदेहास्पद मरीज के लिये चिकित्सा आवास आदि की सुविधायें उपलब्ध हैं और उन्हें एडवाईजरी की पालना सुनिश्चित करने को कहा जाता है। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव के बारे में समय-समय पर जारी एडवाईजरी की पालना पर जोर देते हुए कहा कि इसकी अवहेलना करने पर संबंधित के विरूद्ध सख्त कानूनी कार्यवाही करने का प्रावधान है और यह दंडनीय अपराध की श्रेणी में आता है। साथ ही कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिये जिले की सीमा में प्रवेश करने वाले व्यक्ति की पुख्ता स्वास्थ्य जांच स्थापित चैकियों पर जा रही है। बाहर से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है। उन्होंने मीडिया से सहयोग की अपेक्षा करते हुए कहा कि यदि उन्हें इस संबंध मंे कोई सूचना मिलती है तो तुरन्त सम्पर्क कर सकते हैं। साथ ही स्पष्ट किया कि यदि किसी मरीज का जांच के लिए सेम्पल लिया जाता है तो इसको भयावह स्थिति या संदिग्धता में नहीं लिया जाना चाहिए। सावधानी रखने के लिये यह जांच कार्य किया जा रहा है।
5 या 5 से अधिक व्यक्तियों के एकत्रित होने पर प्रतिबंध
जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता ने जिले में जनहित मे कोरोना संक्रमण से बचाव और सावधानियों को दृष्टिगत रखते हुए धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा जारी कर कई गतिविधियों पर प्रतिबन्ध लगा दिया है। इसके अन्तर्गत कोरोना वायरस के संबंध में अफवाह नहीं फैलाने तथा सार्वजनिक स्थान पर 5 या 5 से अधिक व्यक्तियों एकत्रित होने, होटल व रेस्टारेंट में बैठकर खाना नहीं खिलाने आदि कई गतिविधियों पर प्रतिबन्ध लगाया गया है। जिले में आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी वाणिज्यिक प्रतिष्ठान, फैक्ट्री, गोदाम, माॅल व दुकानें बन्द रखने, सभी प्रकार के सार्वजनिक ट्रांसपोर्ट, रोडवेज, सिटी बस, निजी बसें, टैक्सी, रिक्शा इत्यादि का अन्तर्राज्य, अन्र्तजिला, शहर और कस्बों में संचालन सभी प्रकार के मेले, जुलूस, धार्मिक आयोजन एवं सामाजिक उत्सवों के आयोजन नहीं किए जाएंगे। जिले में यदि विदेश से अन्य राज्य से भारतीय नागरिक प्रवेश करता है तो उसको अपनी स्वास्थ्य की जांच करवाना आवश्यक कर दिया गया है। बिना चिकित्सा जांच के ऐसे व्यक्ति जिले में निवास नहीं कर सकते हैं। गुजरात से लगती हुई जालोर जिले की सीमा में कोई भी व्यक्ति बिना संबंधित उपखंड मजिस्ट्रेट की अुनज्ञा के बगैर प्रवेश नहीं कर सकेगा। निषेधाज्ञा अग्रिम आदेश तक लागू रहेगी।
जिला प्रशासन सतर्कतापूर्वक मुस्तैद
जिला कलक्टर ने कहा कि कोरोना संक्रमण बचाव व रोकथाम को लेकर सम्पूर्ण जिला प्रशासन चाक चैबंद है और जिम्मेदारी से सतर्कतापूर्वक सक्रिय है। उन्होंने बताया कि रानीवाड़ा, सांचैर, भीनमाल, जसवन्तपुरा, चितलवाना, आहोर के उपखंड अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों में जिम्मेदारी से दौरे कर रहे हैं और नियमित 24 घंटे निगरानी बनाए हुए हैं। इस संबंध में प्रत्येक विभाग से अपने दायित्व पूर्ण करने, सूचना प्राप्त होते ही जानकारी देने के साथ-साथ विशेषकर सी.एम.एच.ओ. एवं चिकित्सा विभाग को अपने मोबाइल संपर्क को हमेशा खुला रखने एवं काॅल आने पर जिम्मेदारी पूर्वक सुनने के निर्देश दिए हैं।
रविवार को जोधपुर भेजे तीनों सेम्पल नेगेटिव
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. जी.एस.देवल ने बताया कि रविवार को कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच के लिये सामान्य चिकित्सालय से जालोर के मांडवला निवासी मगनाराम, आकोली के उम्मेदसिंह तथा देवाड़ा की सुगना के सैम्पल जोधपुर भेजे गये थे। इन सभी की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *